जबलपुर-पुलिया से छलांग लगाने वाले युवक का शव मिला,नहीं खुला ढाबा में विवाद के बाद लापता गुरूदेव की मौत का राज

नहीं खुला गुरूदेव की मौत का राज
जबलपुर।
ढाबा में विवाद के बाद लापता हुए गुरूदेव की लाश कल नहर के पास
लाश मिली थी। इस मामले में मृतक के परिवार वाले हत्या की आशंका जाहिर कर
रहे हैं। जबकि पुलिस महज एक हादसा मान रही है। पुलिस का कहना है कि पीएम
रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है कि यह हादसा है या फिर हत्या।
गुरूदेव की मौत के बाद उसके घर में मातम छाया हुआ है।

  उल्लेखनीय है कि रविवार की शाम को कटंगा निवासी सुरजीत सिंह ने संजीवनी
नगर थाने में रिपोट दर्ज कराई थी कि उसका १९ वर्षीय बेटा गुरूदेव लापता
है। इस दौरान गुरूदेव के साथी उवेश खान ने भी रिपोर्ट दर्ज कराई है कि
शनिवार की रात तीन बजे वह अपनी कार से गुरूदेव व अन्य साथियों के साथ
बायपास स्थित ढाबा में खाना खाने गया था। वहां गुरूदेव कार से उतरकर एक
पलंग में सो गया। इसी बात को लेकर वहां उपस्थित कुछ लोगों से उसका झगड़ा
हुआ। जिसके बाद सभी लोग बचने के लिए भाग निकले। सभी युवक अपने घर तो
पहुंच गए लेकिन गुरूदेव नहीं पहुंचा। दूसरे दिन उसकी लाश नहर में मिली
थी। पुलिस ने कुछ संदेहियों को हिरासत में लिया जिनसे पूछताछ में कोई
सफलता नहीं मिली।
………………………………………………………………………………………………
लाईन खुलते ही तत्काल कोटे से नहीं मिल रहा आरक्षण
बांबे स्टॉक एक्सचेंज की तरह उछली वेटिंग लिस्ट
जबलपुर।
यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लाख वादे रेलवे करता रहता
है,लेकिन हकीकत बिलकुल ही उलट रहती है। त्यौहार के समय अधिक भीड़ रहने का
सिलसिला हर साल रहता है,लेकिन सारी जानकारी होने के बावजूद भी रेलवे
यात्रियों की वेटिंग लिस्ट को कम नहीं कर पाता है। यात्रियों का तत्काल
कोटा से भी आरक्षित टिकट लेने की जद्दोजहद में दो चार होना पड् रहा है तो
वहीं बांबे स्टॉक एक्सचेंज की तरह रेलवे की वेटिंग लिस्ट उछाल मार रही
है,लेकिन आम जन को आरक्षित कोटा नहीं मिल पा रहा है।

दलालों की चाँदी
त्यौहार में गंतव्य तक पहुंचने के लिए यात्री हर हाल में आरक्षित टिकट
में ही यात्रा करना उचित समझता है। वहीं वेटिंग लिस्ट अधिक होने एवं रेल
प्रबंधन द्वारा समुचित सुविधा नहीं देने के चलते दलाल यात्रियों को अपने
चंगुल में फंसाकर उन्हें अधिक दाम पर सीट उपलब्ध कराने का भरोसा देते है।
दलालों के अनुसार जितनी अधिक वेटिंग लिस्ट होगी उतनी ही हमारे एवं
वाणिज्य अमले के बीच गांठ मजबूत होगी। वहीं तत्काल कोटा की साईट से होने
वाली बुकिंग में भी हमारी सेंध लगी हुई है,जिसके कारण लाईन खुलते ही
बुकिंग का स्लॉट फुल हो जाता है।

वेटिंग लिस्ट बांबे स्टॉक एक्सचेंज की तरह उछली
त्यौहारोंं के इस सीजन में रेलवे की वेटिंग लिस्ट बांबे स्टॉक एक्सचेंज
की तरह उछाल मार रही है। त्यौहारों में लंबी वेटिंग लिस्ट को कम करने में
रेल प्रबंधन की कोई रूचि नहीं है और वे सुविधाओं का ढिंढोरा पीटने में
मशगूल है,जबकि आरक्षण केन्द्रों में लगी लंबी लाईन रेल प्रबंधन की
बदइंतजामी की हकीकत बयां कर रही है।

इनका कहना है
रेलवे को वेटिंग लिस्ट कम करने के लिए अतिरिक्त कोच लगाना चाहिए,लेकिन
दलालों से सांठगांठ के चलते ऐसा नहीं किया जाता है।
फोटो- मुकेश रेल यात्री
त्यौहार का उत्साह  ट्रेन में आरक्षण नहंी मिलने से किरकिरा हो गया।
तत्काल कोटे को भी दलालों ने हैक कर लिया है,रेल प्रबंधन की बदइंतजामी से
बहुत बुरे हालात बन गए।
………………………………………………………………………………………
जबलपुर-पुलिया से छलांग लगाने वाले युवक का शव मिला
जबलपुर।
मझौली थाने के अंतर्गत रीछी निवासी एक 30 वर्षीय युवक ने अपने दोस्तों के साथ अभाना पुलिया में छक कर शराब पी और उसके बाद पुलिया से छलांग लगा दी। दोस्तों ने जब यह घटना देखी तो सूचना उसके परिजनों को दी।उसके बाद उसकी तलाश शुरू हुई जिसका शव आज सुबह देवरी अमगंवा ग्राम के नाले के पास मिला।

इस संबंध में पुलिस ने बताया कि समीपी ग्राम रीछी निवासी 30 वर्षीय निरंजन दाहिया पिता तुलसी राम दाहिया शराब पीने का आदि था वह 28 अगस्त की सायं अपने दोस्तो के साथ घर आ रहा था इसी दौरान रास्ते मे अभाना ग्राम की पुलिया में अपने दोस्तों के साथ बैठ कर उसने शराब छक कर शराब पी और इसके बाद उसने वहीं पुलिया से छलांग ली जिसकी घटना के बाद से ही पुलिस एवं उसके परिजनों द्वारा तलाश की जा रही थी आज सुबह जब उसकी खोज बीन चल रही थी इसी दौरान किसी ने सूचना दी कि उसकी लाश देवरी महंगवा ग्राम की पुलिया में फसी हुई है। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को बाहर निकालने के बाद प्रारंभिक कार्रवाई के उपरांत पोस्ट मार्टम को भिजवाते हुये घटना की पड़ताल शुरू कर दी गई है।

Related posts