जबलपुर..हैल्थ इंश्योरेंस कराने के नाम पर लाखों की ठगी,,,गोलू उर्फ खालिद पर दस हजार का ईनाम घोषित

गोलू पर दस हजार का ईनाम घोषित
जिम संचालक पर की थी फायरिंग
जबलपुर।
ओमती थाना अंतर्गत सिविक सेंटर में जिम संचालक पर फायरिंग करने वाले गोलू उर्फ खालिद पिता अब्दुल लतीफ निवासी मक्का नगर की गिरफ्तारी पर पुलिस अधीक्षक ने दस हजार का ईनाम घोषित कर दिया है। गौरतलब हो कि गत दिवस सिविक सेंटर में दिनदहाड़े जिम संचालक अमित भसीन पर जानेलवा हमला हुआ था। मामले में पुलिस ने राशिस और गोली  पर प्रकरण दर्ज किया था। आरोपी क्षेत्र में लगे सीसीटीव्ही कैमरे में भी कैद हुए थे। उल्लेखनीय हो कि राशि पहले एशिया जिम संचालक के यहां काम करता था किसी बात पर विवाद
होने के बाद एशिया जिम संचालक अमित भसीन ने राशि को नौकरी से निकाल दिया था जिसके राशिद शहर के दूसरे जिम में ट्रेनिंग देने का काम करने लगा था। नौकरी से निकाले की रंजिश के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया था।

हैल्थ इंश्योरेंस कराने के नाम पर लाखों की ठगी
रांझी थाने में धोखाधडी का प्रकरण दर्ज
जबलपुर।
हैल्थ इंश्योरेंस कराने के नाम पर कई लोगों को फर्र्जी डिमांड ड्राफ्ट देकर कमीशन की रकम लेने वाले ठग के खिलाफ रांझी पुलिस ने धोखाधडी का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। रांझी थाना प्रभारी मंजीत सिंह ने बताया कि संजय नगर रांझी निवासी सर्वजीत सिंह 49 वर्ष ने एक लिखित शिकायत की कि वह जबलपुर मे स्वास्थ बीमा कम्पनी रैलीगेर हैल्थ इंश्योरेंस में स्वास्थ सलाहकार के रूप में कार्यरत है उसके पास माह जनवरी 2019 में अजय शर्मा नाम के व्यक्ति का फोन आया, जिसने बताया कि वह बीएसएनएल बिलासपुर में कार्यरत है, हैल्थ इंश्योंरेंस प्लान समझने है तो उसने कुछ प्लान बता दिये, व अधिक जानकारी के लिये बताया कि मैनेजर अनिल आर्य से सम्पर्क कर लें, वे और अधिक जानकारी दे देंगे। अनिल आर्य का मोबाईल नम्बर दे दिया, अजय शर्मा 10-15 दिन मैनेजर अनिल आर्य के सम्पर्क में रहे, एवं 20 फरवरी 2019 को उससे सम्पर्क कर कहा कि प्लान फायनल कर लिया है, डिमाण्ड ड्राफ्ट व पालसी के लिये जरूरी दस्तावेज लेकर आ रहा हूॅं,

लेकिन मेरी यह शर्त है कि चूंिक मेैं पूर्व मे इंश्योरेंस कम्पनी में कार्य कर चुका हूॅ अत: आपको मुझे पॉलिसी का कमीशन नगद में वापस करना होगा, 4 पॉलिसी जो कि लगभग 3 लाख 60 हजार रूपये की थी, जिसकी लॉगिन होने से उसका कम्पनी में नाम होता एंव सम्मान  मिलता है, यह सोचकर वह सहर्ष तैयार हो गया, अजय शर्मा द्वारा कमीशन के 45 हजार रूपये की मांग की गयी, उसने तुरंत 30 हजार रूपये का भुगतान कर दिया, शेष राशि पॉलिसी जारी होने के बाद देने का तय किया, जिस पर अजय शर्मा सहमत हो गये, अजय शर्मा द्वारा उसे 3 लाख 60 हजार 823 रूपये के 4 डिमाण्ड ड्राफ्ट पंजाब नेशनल बैंक उषा काम्पलैक्स, साईपथ रोड राजकिशोर नगर बिलासपुर के दिये गये, जो उसने रेैलीगेर कम्पनी मे 21 फरवरी 2019 को लॉगिन के लिये प्रस्तुत किये, अगले दिन 22 फरवरी 2019 को कम्पनी द्वारा बैंक को भुगतान के लिये प्रेषित किये गये जिसे बैंक  द्वारा जाली बताकर वापस लौटा दिया गया। डिमाण्ड ड्राफ्ट वापस आने के बाद अन्य कम्पनियों से पता किया तो ज्ञात हुआ कि अजय शर्मा द्वारा इस प्रकार की जालसाजी कई अन्य लोागो के साथ भी की गयी है।

Related posts