शहडोल…ट्रेन निरस्त करना रेलवे का तुगलकी फरमान : सुभाष

ट्रेन निरस्त करना रेलवे का तुगलकी फरमान : सुभाष
शहडोल। दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे जोन बिलासपुर द्वारा 11 फरवरी से 05 मार्च तक दर्जनों यात्री गाडिय़ां निरस्त कर दिये जाने से रेल यात्रियों को हो रही असुविधा के मद्देनजर म.प्र. कांग्रेस कमेटी के महासचिव सुभाष गुप्ता ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। दरअसल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर रेल मंडल के अंतर्गत बिलासपुर अनूपपुर खंड पर रेल लाइन दोहरीकरण का कार्य किया जा रहा है।
रेल लाइन कार्य के अंतर्गत पेंड्रा रोड, सारबहरा, खोडरी एवं खोडरी-अनूपपुर खंड को जोडऩे के लिए नॉन इंटरकॉलिंग का कार्य 11 फरवरी से 05 मार्च तक तक चलेगा। इसी वजह से इस ट्रैक पर चलने वाली कई गाडिय़ों को रद्द कर दिया गया है तो कई ट्रेनों का समय बदल दिया गया है, निरस्त होने वाली ट्रेनों में प्रमुख तौर पर गाड़ी संख्या (18233) इन्दौर-बिलासपुर, (18234) बिलासपुर-इन्दौर, (18235) भोपाल-बिलासपुर और (18236) बिलासपुर-भोपाल शामिल हैं।

कांग्रेस नेता श्री गुप्ता का कहना है कि इन दिनों शादी का सीजन चल रहा है, लोगों ने शादी व त्यौहार को लेकर तीन-चार माह पहले से ही अपना रिजर्वेशन करा रखा है, ऐसे में ट्रेनों का निरस्त कर दिया जाना बेहद अफसोसजनक होने के साथ ही तुगलकी फरमान प्रतीत होता है। उन्होंने कहा है कि हर दिन ऑफिस जाना हो, पढ़ाई के लिए कहीं दूर जाना हो, परीक्षा के लिए जाना हो, व्यापार के लिए कहीं बाहर जाना हो, इत्यादि इन सब के लिए ट्रेन एक बड़ा सहारा है, ऐसे में अचानक एक साथ कई ट्रेनों को प्रारंभ स्टेशन से समाप्ति स्टेशन तक पूरी तरह निरस्त कर दिये जाने के कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। रेलवे की इस कार्यप्रणाली से नाराज कांग्रेस नेता सुभाष गुप्ता ने रेल मंत्री से मांग की है इन ट्रेनों को अनूपपुर या शहडोल तक नियमित रूप से चलाया जाए। साथ ही इंदौर से चलने वाली ट्रेनों को भी शहडोल या अनूपपुर तक चलाया जाए।

Related posts