अमोनियम नाइट्रेट की अवैध सप्लाई करने वाला इंदौर का कारोबारी राजस्थान से गिरफ्तार..

💥🅱इंंदौर मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर के कारोबारी को पुलिस ने राजस्थान से विस्फोटक सामग्री बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया है। कारोबारी इंदौर के सन सिटी का का रहनेवाला है। जो अमोनियम नाइट्रेट की अवैध सप्लाई पूरे देश में करता आया है। अब तक आरोपी देशभऱ में 1500 ट्रक अमोनियम नाइट्रेट लोगों को बेच चुका है। पुलिस को इस कारोबारी की लगभग एक साल से तलाश थी। हालांकि पुलिस इसके साथियों को एक पहले ही फरवरी में पकड़ चुकी है। किसी कोइस बारे में शक ना हो इसलिए आरोपी कारोबारी अपने यहां काम करने वाले नौकरों के खातों से लेन-देन करता था।पुलिस ने आरोपी कारोबारी के खिलाफ विस्फोटक अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार, राजस्थान पुलिस ने फरवरी व मार्च में पुलिस ने अमोनियम नाइट्रेट से भरे दो ट्रक जब्त किए थे।जिसे दिलीप सिंह व रामसिंह चला रहे थे। दोनों ट्रक चालक सोडियम सल्फेट की बिल्टी लेकर ट्रक पास करने का प्रयास कर रहे थे।यह ट्रक एक्सीलेंट इंडिया लॉजिस्टिक अकुरडी पुणे द्वारा मेसर्स स्मृति केमिकल्स एंड इंटरमेडिज शोलापुर से भरा गया था। जबकि इसे पुष्पमूर्ति मिनरल्स एंड केमिकल्स प्रालि यूनिट पंतसाहिब के यहां खाली करना था। जांच में खुलासा हुआ कि दोनों ही स्थान फर्जी हैं। ट्रक मालिक रमेश व किशोरीलाल ने बताया कि ट्रक चखण टोलनाका नासिक से ट्रांसपोर्टर रवींद्र चुघ से भरवाए थे। दोनों ट्रक दीपक फर्टिलाइजर पुणे से सप्लाय हुआ है।पुलिस ने रवींद्र को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया तो बताया अवैध कारोबार का मास्टर माइंड अविनाश बाहेती निवासी सनसिटी इंदौर है। वह नासिक से महाराष्ट्र पासिंग ट्रक से माल मंगवाता था। बाद में दूसरे ट्रकों में माल खाली करवा देता था।

तब से पुलिस ने इसकी तलाश शुरु कर दी थी। आरोपी कारोबारी इस काम करने के लिए खुद के लाइसेंस का उपयोग करता था और इसी के माध्यम से अमोनियम नाइट्रेट खरीद कर नौकरों के नाम से फर्जी फर्मों के जरिए देभभर में फर्जी बिल व बिल्टियों के माध्यम से बेच देता था। पुलिस को जांच में नौकरों के खातों में करोड़ों रुपए जमा होने की जानकारी भी मिली है।अब तक अविनाश 1500 ट्रक अमोनियम नाइट्रेट के बेच चुका है। पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आगे की पूछताछ कर रही है। माना जा रहा है कि पूछताछ में कई खुलासे हो सकते है और अविनाश से जुड़े तारों का भी खुलासा हो सकता है

Related posts