नीतीश भ्रष्टाचारियों के साथ नहीं रहना चाहते थे, खुद इस्तीफा दियाः अमित शाह

मिशन 2019 के तहत यूपी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज अपने दौरे के तीसरे और आखिरी दिन कहा कि साल 2019 में बीजेपी 2014 में मिली जीत से भी बड़ी जीत के साथ सत्ता में वापसी करेगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास और सुशासन के दम पर वापस आएगी. लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने कहा, ”हम सुशासन और विकास के दम पर 2019 में बड़े बहुमत के साथ वापस आएंगे.”

दूसरी तरफ बिहार में जेडीयू और बीजेपी के गठबंधन और लालू यादव की पार्टी से दूरी पर अमित शाह ने दो टूक शब्दों में कहा कि उन्होंने कोई दल नहीं तोड़ा. नीतीश कुमार खुद भ्रष्टाचारियों के साथ नहीं रहना चाहते थे और उन्होंने सीएम पद से खुद इस्तीफा दिया. इस मुद्दे पर अमित शाह ने कहा, ”नीतीश कुमार ने खुद इस्तीफा दिया और हमारे साथ आए. हमने किसी दल को नहीं तोड़ा. नीतीश कुमार खुद भ्रष्टाचारियों के साथ नहीं रहना चाहते थे.”

अपनी लखनऊ की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने राम मंदिर के सवाल पर भी बात रखी. उन्होंने कहा, ”कानूनी तरीके से मंदिर बनेगा. इसके अलावा गौमंत्रालय बनाने को लेकर सरकार अभी विचार कर रही है. पनामा पेपर मामले में बीजेपी के किसी भी सदस्य का नाम नहीं है. जिनके नाम आए हैं उनके मामले की जांच चल रही है.”

 

पाकिस्तान से व्यापार पर एनआईए की रिपोर्ट पर शाह ने कहा कि ”पाकिस्तान से व्यापार बंद करने को लेकर विचार किया जा रहा है.”

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पर तंज

गुजरात में राज्यसभा चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस विधायकों की टूट पर अमित शाह ने कांग्रेस पर तंज कसा है. उन्होंने कहा, ”हमने किसी दल को नहीं तोड़ा है. कांग्रेस ये बताए कि उसने अपने विधायकों को कर्नाटक में कमरे में क्यों बंद कर रखा है.”

समाजवादी पार्टी के बड़े नेता और मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल यादव के बीजेपी में शमिल होने की खबर पर शाह ने कहा कि अभी इसे लेकर कोई बात नहीं हुई है

Related posts