पीड़ितों को 10 हजार रुपए की राहत और सात दिन में डीजी जेल से जवाब तलब

भोपाल-रक्षाबंधन पर अपने परिजनों से मिलने जेल पहुंचे मुलाकातियों के चेहरे पर पहचान के लिए सील लगाने की घटना को राज्य मानव अधिकार आयोग ने अमानवीय व्यवहार माना है। नईदुनिया, नवदुनिया के मंगलवार के अंक में तस्वीर के साथ प्रमुखता से प्रकाशित इस खबर पर आयोग ने संज्ञान लिया है

Related posts