वारासिवनी खैरलांजी विधायक निर्मल ने बाटी थी स्वेक्षा अनुदान राशी अब देने में कर रहे हिला हवाली

विधायक निर्मल ने बाटी थी स्वेक्षा अनुदान राशी अब देने में कर रहे हिला हवाली
वारासिवनी खैरलांजी विधायक डॉ योगेंद्र निर्मल द्वारा अपनी स्वेक्षा अनुदान राशि से विगत समय भाजपा के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं कुछ पत्रकारों सहित अन्य जरूरत मन्द लोगो को तीन से लेकर पाँच हजार तक कि राशि दी गई थी जिसमे से अधिकांश लोगों को उक्त राशि प्राप्त होने के बाद भी कुछ लोंगो को उक्त राशि अब तक प्राप्त नही हुई हैं और अब उन लोगो को सहायता राशि प्रदान करने के बजाए उन को राशि प्राप्त करने के लिये अपात्र बताने कर उन्हें इस राशि से वंचित करने का प्रयास किया जा रहा हैं इस आशय का आरोप लगाते हुए कायदी गांव के मनीष राजपूत कृष्ण कुमार खैरवार सहित चार लोंगो ने जिला कलेक्टर को शिकायत की हैं।

इन लोगो ने शिकायत में बताया कि विधायक डॉ योगेंद्र निर्मल द्वारा विगत दिवस क्षेत्र के जरूरतमन्दों को अपनी स्वेक्षानुदान राशि से अन्य लोंगो के साथ ही उन लोगो को 5 — 5 हजार रूपये की राशि बतौर सहायता दी थी जिसका चेक लेने जब बीते दिवस वे लोग जनपद सीईओ के पास गए तो उन्होंने बताया कि सारे चेक विधायक जी द्वारा ले जा लिए गए हैं उन्ही के माध्यम से आपको राशि मिलेंगी जिसके बाद जब वे विधायक के पास गए तो उन्होंने हीलाहवाली करते हुए दो तीन दिन बाद चेक ले जाने की बात कही उसके बाद वे विधायक जी के पास दो तीन बार और गए तब भी उनके द्वारा इसी तरह का जवाब दिया गया जिसके बाद वे परेशान होकर जब जनपद सीईओ के पास गए तो उन्होंने आप लोग इस सहायता राशि प्राप्त करने के पात्र नही हैं आप का नाम सूची से हटाने के लिए उच्चाधिकारियों को लिखा जा रहा हैं । जिससे व्यथित होकर इन चारों ने जिला कलेक्टर को आवेदन देकर उन्हें राशि दिलाने की मांग की हैं ।।

विदित हो कि स्थानीय विधायक द्वारा जिन लोंगो को सहायता राशि दी गई हैं उसमें से अधिकांश पात्र लोग भाजपा से जुड़े सम्पन्न लोग हैं और कुछ लोग भाजपा के बड़े पदों पर विराजमान हैं वे इस राशि को प्राप्त करने के लिए पात्र हो गए हैं वही जो वास्तव में इसके लिए पात्र हैं उनको अपात्र करने की तैयारी की जा रही हैं । इतना ही नही विधायक निधि के साथ ही सांसद बोधसिंह भगत द्वारा भी अपनी निधि से क्षेत्र के जरूरत मन्दों को राशि दी गई हैं जिन्हें जनपद के माध्यम से राशि चेक द्वारा दी जारही हैं लेकिन विधायक निधि की राशि के चेक उनके खुद के द्वारा बाटी जा रही हैं जबकि इसके पूर्व तक यह राशि जरूरत मन्दों को जनपद के माध्यम से ही वितरित की जाती थी और जानकारों ने भी बताया कि नियम भी यही हैं लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सबसे प्रिय और भरे मंच से प्रदेश के सबसे ईमानदार विधायक का दर्जा पाने वाले विधायक डॉ योगेंद्र निर्मल द्वारा अपने स्वयं के हाथों से अपने निवास से हितग्राहियों को चेक बाटे जा रहे हैं जिसमे से अधिकांश को तो उन्होंने चेक बांट भी दिए हैं लेकिन इन लोंगो को चेक ना देते हुए इसके लिए क्यों अपात्र बताए जाने का प्रयास किया जा रहा हैं समझ से परे हैं । इस सम्बंध में जब जनपद सीईओ अखिल सहाय श्रीवास्तव से चर्चा की गई तो उन्होंने कल देख कर जवाब देने की बात कही।


विदित हो कि विधायक डॉ योगेंद्र निर्मल द्वारा बाँटी गई स्वेक्षानुदान राशि की लिस्ट सार्वजनिक होने के बाद से ही चर्चा में बनी हुई हैं क्योंकि उन्होंने इसमे चुन चुन कर वास्तविक जरूरतमन्दों की बजाए अपनी पार्टी के पदाधिकारियों और चहेतों को राशि बाँटि हैं।वही इनके समर्थकों द्वारा इस मामले में विधायक का बचाव करते हुए पूर्व विधायकों द्वारा भी ऐसा ही किए जाने का बचकाना जवाब देकर उन्हें इस मामले में सही बताने का प्रयास किया जा रहा हैं ।यानी पूर्व के विधायकों ने जैसा किया वैसा ही हम भी कर रहे हैं ।

Related posts