सितंबर में संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में मोदी नहीं जाएंगे

। संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी अस्थायी एजेंडा के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सितंबर में यहां आयोजित होने वाले संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र में शामिल होने की संभावना नहीं है और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस उच्च-स्तरीय सत्र को संबोधित करेंगी। महासभा के 72वें सत्र के ‘आम परिचर्चा’ के लिए वक्ताओं की पहली अस्थायी सूची के अनुसार, सुषमा 23 सितंबर की सुबह उच्च-स्तरीय सत्र को संबोधित करेंगी। उन्होंने पिछले साल भी ‘आम परिचर्चा’ को संबोधित किया था।
‘आम परिचर्चा’ की शुरूआत 19 सितंबर को होगी और यह 25 सितंबर तक चलेगी। सभी की नजरें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर टिकी हैं जो 19 सितंबर को महासभा हॉल के ऐतिहासिक हरे मंच से पहली बार वैश्विक नेताओं को संबोधित करेंगे। ‘आम परिचर्चा’ की शुरूआत होने पर ब्राजील के बाद पारंपरिक तौर पर अमेरिका दूसरा वक्ता होता है। वक्ताओं की सूची के मुताबिक, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ 21 सितंबर को वैश्विक नेताओं को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी पिछले महीने के अंत में ट्रंप के साथ द्विपक्षीय वार्ता के लिए वाशिंगटन गए थे।

प्रधानमंत्री के तौर पर उन्होंने 2014 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया था। ‘आम परिचर्चा’ से पहले 2015 में उन्होंने उच्च-स्तरीय संयुक्त राष्ट्र सतत विकास सम्मेलन को उस समय संबोधित किया था जब वैश्विक नेताओं ने सतत विकास का महत्वाकांक्षी 2030 एजेंडा स्वीकार किया था। वह राष्ट्रपति बराक ओबामा की मेजबानी में संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक सम्मेलन में भी शामिल हुए थे और घोषणा की थी कि भारत संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक अभियान में 850 जवानों की अतिरिक्त बटालियन

Related posts